जैतून का तेल है कई बीमारियों के लिए वरदान || जैतून का तेल (ऑलिव ऑइल) के सौंदर्य लाभ || जैतून का तेल (ऑलिव ऑइल) के स्वास्थ लाभ

Go to content
जैतून का तेल है कई बीमारियों के लिए  वरदान || जैतून का तेल (ऑलिव ऑइल) के सौंदर्य लाभ || जैतून का तेल (ऑलिव ऑइल) के स्वास्थ लाभ

जैतून का तेल एक स्वास्थ्यवर्धक तेल है। इसका प्रयोग कई तरह की बीमारियों में लाभदायक होता है साथ ही यह त्वचा संबंधी समस्याओं और सौंदर्य बढ़ाने के लिए भी खूब प्रयोग किया जाता है। आज कल की खराब जीवनशैली और खान-पान की गलत आदतों के चलते हम मोटापे और डायबिटीज जैसी कई बीमारियों के शिकार हो जाते हैं।कोलेस्ट्रॉल, जोडो का दर्द ,कब्ज,बालो का  झड़ना ,त्वचा रोग , कैंसर और काफी ऐसी  बीमारियां है जो धीरे-धीरे आती है और धीरे-धीरे ही आपकी जिंदगी के लिए नासूर बन जाती है।  अपने आहार में जैतून के तेल और नींबू के रस को शामिल कर आप अपनी इम्‍यूनिटी को मजबूत कर सकते हैं। जैतून के तेल में फैटी एसिड की पर्याप्त मात्रा होती है जो हृदय रोग के खतरों को कम करती है। मधुमेह रोगियों के लिए यह काफी लाभदायक है। शरीर में शुगर की मात्रा को संतुलित बनाए रखने में इसकी खास भूमिका है। इसलिए आहार में भी इस तेल का प्रयोग किया जाता है।  
जैतून का तेल (ऑलिव ऑइल) के स्वास्थ लाभ || Health Benefits of Olive Oil In Hindi

निचे बताया हुआ जैतून के तेल का नुस्खा कई  बीमारियों के लिए  वरदान है इसलिए आप इसको जरूर इस्तेमाल कीजिये
सामग्री:
1/2 चम्मच जैतून का तेल
1/2 चम्मच ताजा नींबू का रस
विधि:
1.दोनों को  मिला कर मिश्रण तैयार कर लें।
2.इसे नाश्ते से आधे घंटे पहले खाएं।
3.इस मिश्रण को आप रोजाना खा सकते हैं।
4.अच्छे परिणाम पाने के लिए हफ्ते में तीन बार अवश्‍य लें।

कोलेस्ट्रॉल कम करने का रामबाण घरेलू उपाय जैतून का तेल
आप जैतून का तेल का उपयोग करके अपने शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम कर सकते हैं।ऑलिव ऑइल में मोनोअनसैचुरेटेड वसा का उच्चतम स्तर होता है- लगभग 75-80%, जो शरीर में अच्छे कोलेस्ट्रॉल और एचडीएल को बनाने में मदद करता है।ऑलिव ऑयल में पाये जाने वाले हेल्‍दी फैट के कारण होता है जो  ब्‍लड में लिपिड को बनाये रखता है और इससे आर्टरी में प्‍लाक जमा नहीं होता।जैतून का तेल ह्रदय रोग से बचाता है  और हमारे दिल को मजबूत बनता है| रोज के खानेमे हमें जेतूनके तेल का इस्तेमाल करना चाहिए।  इससे हमारा  कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम  हो जाता है।


जोड़ों और घुटनों के दर्द से छुटकारा दिलाये जैतून का तेल
जैतून का तेल हमारी हडियो के लिए काफी असरदार हे और इससे हमारी  सेहतपर काफी अच्छा  आसार होता है। जैतून का तेल और नींबू के मिश्रण में एंटीऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं जिससे हड्डियों की जकड़न कम होती है और दर्द में आराम मिलता है।जैतून  का तेल ऑस्टियोपोरोसिस से पीड़ित लोगों पर काफी असरदार है। रोजाना खानेमे जेतून के तेल का इस्तेमाल करने से हमें ओस्टोपोर्सिस से आराम मिलता है।
आप इसका उपयोग खाना के साथ -साथ  शरीर के ऊपर  किसी हिस्से की मालिश भी कर सकते है।  

जैतून का तेल बढ़ती उम्र के असर को करें बेअसर
भागदौड़ भरी जिन्दगीमे हम अपने खाने पिने पर और अपने सेहत पर ध्यान नहीं दे पाते।  इससे हमें कम उम्रके बावजूद हमारी उम्रमे काफी फरक दिकने लगता हे ,इसका हमारे त्वचा पर और  सेहत पर काफी असर पड़ता है।  
जैतून का तेल हमारे खाने में इस्तेमाल करनेसे  हमारी सेहत अच्छी रहती है।  जैतून का तेल प्राकृतिक सौंदर्य के क्षेत्र में त्वचा की देखभाल, बालों के लिए एक प्रसिद्ध घटक है क्योंकि इसमें उम्र-विरोधी, एंटीऑक्सीडेंट और नम स्क़ुअलेन होता है।

जैतून का तेल हृदय की समस्या पर असरदार
जैतून के तेल से उच्च फैटी एसिड की वजह से होने  वाली समस्या से हमें राहत मिलती है । यह खराब कोलेस्ट्रॉल को काम कम करता  है  और रक्त परिसंचरण में सुधार लाता है ।ऑलिव ऑयल को खाने में मिलाकर खाने से दिल मजबूत होता है ,इससे दिल का दौरा पडने की संभावना कम होती है।रोज के खानेमे हमें ऑलिव ऑयल का इस्तेमाल करना चाहिए।  इससे हमारा ब्लड प्रेशर पे नियंत्रण रहता हे और रक्त संचार अच्छा  होता है।

जैतून का तेल उच्च रक्तचाप पे  असरदार
एक शोध के अनुसार जो लोग हाई बीपी की दवाइयाँ ले रहे है यदि वो अपने खाने में जैतून के तेल का इस्तेमाल करते है तो वो अपने रक्तचाप के बढ़े हुए level को कम करने में सक्षम हो सकते हैं शोधकर्ताओं का मानना है कि जैतून के तेल में ओलिक एसिड आसानी से शरीर में अवशोषित हो जाता है, और इस प्रकार से यह रक्तचाप को कम करता है। यह तेल स्वस्थ मोनोसैचुरेटिड फैट की उपस्थिति के कारण हृदय की उम्र को भी बढ़ा देता है। जैतून के तेल का उपयोग आप खाना पकाने और स्वस्थ सलाद बनाने दोनों ही रूप तेल का उपयोग करें। जैतून के तेल खाने से शरीर का रक्त परिसंचरण सुधरता है। जिससे उच्च रक्तचाप (high BP) की समस्या दूर होती है|
जैतून का तेल (ऑलिव ऑइल) के स्वास्थ लाभ
जैतून के तेल के फायदे से मधुमेह का उपचार
जैतून का तेल   मधुमेह की बीमारी  में सहायक है ।  जैतून का तेल, कम चरबी वाले भोजन की तुलना में लगभग 50 प्रतिशत   टाइप 2 मधुमेह (ब्लड शुगर का स्‍तर बहुत ज्यादा बढ़ जाना) के खतरे को कम कर सकता हैं। जैतून के तेल का सेवन करने से महिलओं में डायबिटीज होने की सम्भावना बहुत कम होती है।जैतून का तेल  इन्सुलिन की कार्यप्रणाली को बढ़ाता है।
अपने  मधुमेह के खतरे को कम करने के लिए आपको अपने भोजन में जैतून के तेल को जरुर शामिल करना चाहिए प्रतिदिन 2 चम्मच जैतून के तेल का सेवन आपको टाइप 2 डायबिटीज के खतरे से बचाएगा ।

कैंसर से बचाव के लिए जैतून के तेल के फायदे
जैतून के तेल को कैंसर से बचाव के लिए मददगार माना जाता है।इसके अलावा यह रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है। जैतून के तेल में उपयुक्त पोलीफेनॉल्स  एंटीऑक्सिडेंटस होते हे , जिससे सूजन कम  होती है  और  कैंसर सेल्स से लड़ने में  मदद  मिलती  है। जैतून के तेल में विटामिन ए, डी, ई, के और बी-कैरोटिन की मात्रा अधिक होती है, इससे कैंसर से लड़ने में आसानी होती है। अगर हम रोज के खानेमे  जैतून के तेल का  इस्तेमाल करते हे तो ब्रैस्ट कैंसर होने की  सम्भावना  कम  होती है।  कैंसर से बचने के लिए आप  जैतून के तेल  का सेवन करें |

जैतून के तेल के फायदे तेज दिमाग के लिए
जैतून के तेल में पर्याप्त मात्रा में विटामिन सी पाया जाता हैं जो की दिमाग के लिए अच्छा हैं | अपने भोजन में जैतून के तेल को शामिल करने से आपका दिमाग तेज होगा |जैतून के तेल का  इस्तमाल करनेसे अल्जाइमर जैसी बीमारि से हमें  निजात मिलती है।  रोजाना जैतून के तेल का सेवन करनेसे हमारी स्मरणशक्ति  बढ़ती  है और दिमाग को तेज करने में  मदद मिलती  है। जैतून के तेल का सेवन करने से  डिप्रेशन जैसी बीमारी से दूर रहते हैं।
खानेमे २ चमच जैतून  के  तेल  का  सेवन आप के दिमाग को तेज करता है।

जैतून का तेल  दे कब्ज से छुटकारा
जैतून के तेल  में लैक्सटिव गुण होते हैं जिससे कब्ज और पाचन समस्याओं से छुटकारा मिलता है। वही नींबू के रस में एंटी-इंफ्लेमेंटरी गुण पाये जाते हैं जो मल त्याग में मदद करते हैं। इससे गैस, पेट में जलन और एसिड बनाना बंद हो जाता है।  

जैतुन का तेल गुर्दे, लिवर और पित्ताशय की थैली को बेहतर बनाता है
जैतुन का तेल  गुर्दे और पथरी के परेशानी योसे आराम दिलाता है।  गॉल ब्लाडर में पथरी बनना एक भयंकर पीड़ादायक रोग है।  पित्ताशय में दो तरह की पथरी बनती है। प्रथम कोलेस्ट्रोल निर्मित पथरी। दूसरी पिग्मेन्ट से बननेवाली पथरी। जिसमें से लगभग अस्सी प्रतिशत पथरी कोलेस्ट्रोल तत्व से ही बनती है।

सामग्री :
1/2 teasp जैतून का तेल
1/4 नींबू का रस

विधि:
1.  1/2 teasp जैतून का तेल और 1/4 नींबू का रस मिला लीजिये।
2.   रोज़ सुबह खाली पेट १ चमच   इस मिश्रण को  लीजिये।
रोज़ सुबह खाली पेट इस मिश्रण को पीने से पित्त में पथरी बनने में बचाव होता है। नाश्ते से पहले इसे एक गिलास पानी के साथ पीने से यह गुर्दे, लिवर और   पित्ताशय की थैली को साफ़ करता है, जिससे उनके कार्य में सुधार आता है।

टिप :-  तली और मसालेदार चीजों से दूर रहें और संतुलित भोजन ही करें।
Treatment of diabetes with the benefit of olive oil
जैतून का तेल (ऑलिव ऑइल) के सौंदर्य लाभ || Beauty Benefits of Olive Oil In Hindi

जैतून के तेल से कैसे पाए सुंदर और निखरी त्वचा और घने काले बाल - जैतून के तेल को इस्तमाल करने से आपकी त्वचा सुन्दर और साफ दिखती है। बालों पर जैतून के तेल के प्रभाव को लेकर काफी ज्यादा प्रचार हुआ है। यह प्रचार काफी हद तक सही भी है क्योंकि यह चमत्कारी तेल बालों को मुलायम बनाता है और इसमें चमक लाता है। जैतून के तेल से मसाज करने से रूसी से मुक्ति मिलती है और यह कंडीशनर का काम भी करता है। तो चलिए इस चमत्कारी तेल की कुछ ख़ूबसूरती बढ़ाने वाले राज़ के बारे में जानें

जैतून का तेल झड़ती बालो पे  करे असर
जैतून के तेल में  फैटी एसिड, कई एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन ई से भरे होने के कारण आपके रूखे- सूखे बालों के इलाज के लिए एक मॉइस्चराइजर के रूप में काम करता हैं।  जैतून के तेल से बालो की मालिश करने से बाल घने और लम्बे होते है।जैतून के तेल में विटामिन इ होता हैं,जिससे बलोका झड़ना बंद हो जाताहै और बालोको मजबूती प्रदान  करने के साथ जल्दी से बढ़ने में मदद करते है। जैतून का तेल दोमुहे बाल और  घुंगराले बलोपे  काफी असरदार  हैं।

विधि:-  जैतून के तेल  को थोडा गर्म कर अच्छे से अपने बालो में लगाकर मालिश करें और किसी कपड़े से अपने बालो को 30 मिनिट्स के लिए ढक ले और फिर उन्हें रातभर के लिए खुला छोड़ दे आप सुबह उठकर अपने बालो को शेम्पू से धो ले, ऐसा आप हफ्ते में एक से दो बार कर सकते है इससे आपके बाल सिल्की मुलायम और घने हो जायेगे |जैतून का तेल हमारे घरमे आसानीसे उपलब्ध होता  हैं।

होंठो के लिए असरदार  हैं जैतून का तेल
जैतून का तेल अपने होंठ कोमल और सुंदर बनाते हैं ।अगर आपके होठ रूखे और बेजान हैं तो होठों पर हर रोज  ऑलिव ऑयल से मालिश कीजिए, होठ कोमल हो जाएगें।
सामग्री :
कटा  हुआ ब्राउन सुगर
जैतून का तेल की बुँदे
निम्बू की बुँदे

विधि
1.ऊपर दी गई  सामग्री को आप मिक्स करे और अपनी होटों पर ५ मिनिट मालिश करे।
2.इससे आप के होठो का रुखा पण दूर हो जायेगा और आपके होठ  मुलायम और सुंदर  हो जायेंगे।
3.सुबह -श्याम जैतून का तेल लगाने से  होठ  कोमल हो जाते है

त्वचा के लिए जैतून के तेल के लाभ:
जैतून का तेल त्वचा के लिए काफी प्राकृतिक और प्रभावी उपचार साबित होता है।अगर आपकी त्वचा रुखी है और उसमे नमी की कमी है तो आप जैतून के तेल की मालिश से अपनी त्वचा को फिरसे जावा कर सकते है।

सामग्री :
थोडासा जैतून का तेल
और निम्बू का रस

विधि:
जैतून के तेल की थोड़ी मात्रा को नीम्बू रस के साथ मिलाकर लगाने से आपकी त्वचा चिपचिपी और ताज़ी हो जायेगी। यह लम्बे समय तक त्वचा को चिकना और कोमल बनाये रखेगा।  रोजाना चेहरे पर इसकी मसाज करने से त्वचा की झुर्रियां समाप्त हो जाती है ।

जैतून का तेल करे मेकअप रिमूव:
जैतून का तेल प्राकृतिक मेकअप रिमूवर  हे। ये वाटरप्रूफ मेकअप  रिमूवर  भी है ,इसके प्रयोग से त्वचा रूखी भी नहीं होती और त्वचा का रंग गोरा होता है।  सभी प्रकार के  मेकअप  को रिमूव  करता है।  

सामग्री :
2 teasp जैतून का तेल
1/2 teasp  पानी

विधि:
दो टेबलस्पून तेल में आधा टीस्पून पानी मिलाकर चेहरे पर लगाएं और धीरे-धीरे मालिश करें ।
मेकअप उतारने के साथ ही ये स्किन को मॉइश्‍चराइज़ भी करता है।
हफ्ते में तीन बार नींबू में रस में ऑलिव ऑयल मिला कर चेहरे की मालिश करें, इससे न सिर्फ झुर्रियां भागेगीं बल्कि चेहरे की रंगत में भी निखार आएगा।

जैतून का तेल करे नाखूनों को मॉइस्चराइज:
नाख़ून हम सभी को प्यारे होते हे, नाख़ून हमारी  सुंदरता को बढाता है।  काफी लोगो के नाखून स्वस्त नहीं होते। नाखून कमजोर ,और कडक  होने के कारन  वो बार-बार टूटते है।  नाखुनो का हमारे स्वस्थ पर भी काफी असर पड़ता हे , इसलिय यह जरुरी हे की आपके नाख़ून स्वस्थ और साफ रहे। जैतून का तेल इस्तेमाल करनेसे  हमारे नाख़ून स्वस्थ , चमकदार, मजबूत और लचीले होते है।  जिससे हमारी सुंदरता बढ़ती है।  सुंदर नाखून के लिए जैतून का तेल बहुत लाभकारी होता है।

सामग्री :
१ चमच  जैतून का तेल

विधि:
गुनगुने जैतून का तेल को नाखूनों पर हल्के हाथों से मसाज करते हुये लगाएँ।  
इन्हें नाखूनों पर तब तक लगा रहने दें जब तक यह उन पर सूख ना जाएँ।
इस प्रयोग को नियमित रूप से करें।
यह नाखूनों को चमकदार बनाता है।

टिप :
1. जैतून के तेल से किसी को एलर्जिक रिएक्शन हो सकती है तो इस बात का ध्यान रखे।
2. त्वचा पर जैतून का तेल का ज्यादा इस्तेमाल मुँहासे का कारण बन सकता है।
3. अगर आपकी त्वचा चिपचिपी हे तो आप जैतून का तेल इस्तेमाल ना  करे।
4. जैतून का तेल बहुत ज़्यादा ही रूखी त्वचा  के लिए एक अच्छा विकल्प नहीं है। कई अध्ययनों से यह निष्कर्ष निकला है कि जैतून के तेल में ओलिक एसिड त्वचा की प्राकृतिक मॉइस्चराइजिंग क्षमता को खत्म करता है।
5. जैतून के तेल  की अधिक खपत रक्तचाप में भारी गिरावट पैदा कर सकती है। यह हमारे समग्र स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है और हमें चक्कर आना, स्ट्रोक और गुर्दे की विफलता जैसी कई समस्याएं हो सकती हैं।
6. जैतून के तेल की उच्च वसा की मात्रा पाचन विकार उत्पन्न कर सकती है और दस्त जैसे समस्याओं को पैदा कर सकती है।
7. जैतून की अधिक मात्रा में सेवन अनावश्यक वजन बढ़ने के प्रमुख दुष्प्रभावों में शामिल है।
Beauty Benefits of Olive Oil In Hindi
अगर आप जैतून के तेल के और फायदे जानते हे तो आप हमें शेयर कर सकते है।  आपको हमारी सलाह पसंद आइ  हो तो आप इसे  लाइक करे और शेयर करे। धन्यवाद !
Related Articles
Sitemap
Copyright © 2015-2018 My Daily Health Tips
Back to content